Help Hindi Me

Zoo & Wildlife Sanctuary Difference

Difference between Zoo and Wildlife Sanctuary in Hindi
चिड़ियाघर और वन्यजीव अभयारण्य के बीच अंतर | Zoo and Wildlife Sanctuary difference in Hindi

चिड़ियाघर और वन्यजीव अभयारण्य के बीच अंतर | Zoo & Wildlife Sanctuary difference in Hindi

कई लोग छुट्टियों में चिड़ियाघर तथा वन्यजीव अभयारण्य घूमने जाना पसंद करते हैं क्योंकि इन जगहों पर वे तरह-तरह के जानवरों से रूबरू होते हैं जिन्हें वे सिर्फ तस्वीरों में ही देखा करते थे।

चिड़ियाघर और वन्यजीव अभयारण्य, इन दोनों ही जगहों में पशु-पक्षी निवास करते हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर इन दोनों के बीच क्या भिन्नता है? दरअसल, दोनों ही जगहों में वातावरण, जीव जंतुओं के रहने की स्थिति समेत कई भिन्नताएं पाई जाती हैं।

लेकिन कई लोग चिड़ियाघर तथा वन्यजीव अभयारण्य के मध्य विद्यमान अंतर को समझ नहीं पाते। इसीलिए आज हम आपकी मदद के लिए यह लेख लेकर आए हैं जिसमें हम आपको बताएंगे कि चिड़ियाघर और अभयारण्य के मध्य क्या अंतर है, तो चलिए शुरू करते हैं:-

चिड़ियाघर किसे कहते हैं? (What is Zoo in Hindi?)

चिड़ियाघर पशु-पक्षियों के लिए बनाया गया एक कृत्रिम निवास स्थान है, जिनमें पशु-पक्षियों को पिंजरे में कैद करके रखा जाता है। चिड़ियाघर में अलग-अलग जानवरों के लिए अलग-अलग तरह के कृत्रिम निवास स्थान बनाए जाते हैं जैसे मगरमच्छ के लिए कृत्रिम तालाब, पक्षियों के लिए कृत्रिम पेड़-पौधे आदि।

चिड़ियाघर का निर्माण इस तरह से किया जाता है कि लोगों की आवाजाही सुनिश्चित की जा सके क्योंकि इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलता है। चिड़ियाघर में आने वाले पर्यटकों को कुछ निश्चित राशि अदा करनी होती है जिसके बाद ही वे चिड़ियाघर में प्रवेश कर पाते हैं। यह एक तरह की वाणिज्यिक परियोजना है जो किसी भी देश और राज्य में पर्यटन की गतिविधि में इज़ाफ़ा करता है। इससे देश के राजस्व में बढ़ोतरी होती है। चिड़ियाघर में सिर्फ उन्हीं जानवरों का रखा जाता है जो पर्यटकों का लुभाते व मनोरंजन करते हो। लेकिन पशु अधिकार कार्यकर्ता चिड़ियाघर को पसंद नहीं करते। उनका कहना है कि चिड़ियाघर में जानवरों की परवाह नहीं की जाती। जंगली जानवरों को पकड़कर यहां कैद कर दिया जाता है तथा उनकी स्वतंत्रता को महत्व नहीं दिया जाता।

इसके साथ ही चिड़ियाघर का वातावरण जानवरों के लिए अच्छा नहीं होता। यहां रहने वाले जानवरों को काफी छोटे पिंजरे में रखा जाता है जो कि उनके प्राकृतिक आवास से मेल नहीं खाते। इस वजह से यहां रहने वाले जानवरों का व्यवहार प्रभावित होता है। वे अकेले डरते हैं, ऊब जाते हैं जिससे वह खुद को हिलाने, चोट पहुंचाने जैसे व्यवहार करते हैं, इस स्थिति को “ज़ुकोसिस” कहते हैं।

वन्यजीव अभयारण्य किसे कहते हैं? (What is Wildlife Sanctuary in Hindi?)

चिड़ियाघरों की तरह ही अभयारण्य में भी पशु-पक्षी निवास करते हैं। लेकिन एक तरफ जहां चिड़ियाघर में पशु-पक्षियों को पिंजरे में कैद करके रखा जाता है तथा उनका कृत्रिम आवास बनाया जाता है। वही वन्य जीव अभयारण्य में जीव-जंतुओं को प्राकृतिक आवास उपलब्ध करवाया जाता है। यहां जानवरों को पिंजड़ों में नहीं रखा जाता जिस वजह से पशु-पक्षी स्वच्छंदता से कहीं भी विचरण कर सकते हैं।

अभयारण्यों में जानवरों को अलग-अलग जगहों से लाया जाता है जैसे बचाव केंद्रों के रूप में घायल वन्यजीव, जब्त किए गए अवैध पालतू जानवर, सर्कस और प्रयोगशालाओं से बचाए गए जानवर आदि। इनकी खासियत है कि यहाँ सिर्फ उन जानवरों को रखा जाता है जो किसी तरह से पीड़ित होते हैं। अभयारण्यों में रहने वाले जानवर जब ठीक हो जाते हैं तो हमेशा यह प्रयास किया जाता है कि उन्हें वापस जंगल में छोड़ दिया जाए।

इसके साथ ही बीमार जानवरों को जल्दी ठीक करने के उद्देश्य से अभयारण्य में ऐसा वातावरण बनाने की कोशिश की जाती है जो जानवर के प्राकृतिक वातावरण की नकल हो, जिससे उन्हें यह महसूस हो कि वे अपने जंगलों में ही है।

इसके साथ ही अभयारण्य में लोगों की आवाजाही पर रोक होती है। हालांकि कुछ विशेष परिस्थिति जैसे-कि शोध के लिए, अभयारण्य में जाने की अनुमति दी जाती है और यदि लोग अभयारण्यों में जाने के इच्छुक होते हैं तो उन्हें कुछ प्रतिबंधों को मानना पड़ता है।

चिड़ियाघर और वन्यजीव अभ्यारण में क्या अंतर होता है? (Zoo and Wildlife Sanctuary difference in Hindi)

  1. इन दोनों के बीच सबसे बड़ा अंतर यह है कि चिड़ियाघर में पशु-पक्षियों के लिए कृत्रिम निवास स्थान बनाया जाता है वहीं दूसरी ओर अभयारण्यों में जानवरों और पक्षियों के लिए प्राकृतिक निवास स्थान बनाया जाता है।
  2. चिड़ियाघर में पशु-पक्षियों को पिंजरे में कैद रखा जाता है जबकि अभयारण्य में पशु-पक्षियों को पूरी आज़ादी दी जाती है जिससे वे अपनी इच्छा से कहीं भी घूमने और विचरण करने को स्वतंत्र होते हैं।
  3. चिड़ियाघर में पर्यटक निश्चित राशि अदा करके अपनी इच्छा अनुसार कहीं भी घूम सकते हैं, जबकि अभयारण्य में ऐसा नहीं होता। क्योंकि अभयारण्य के जानवर स्वतंत्र होते हैं इसीलिए लोगों की सुरक्षा के लिए वहां कुछ प्रतिबंध लगाए जाते हैं जिनका पालन करना जरूरी होता है।
  4. चिड़ियाघर में जानवरों का ध्यान रखा जाता है। वहां उनकी सफाई से लेकर उनका खान-पान आदि सभी चीजों को नियमित रूप से उपलब्ध करवाया जाता है जबकि अभयारण्य में जानवरों की देखभाल करने की जरूरत नहीं होती। वहां के जानवर स्वयं खुद का ख्याल रखने को स्वतंत्र होते हैं।
  5. पशु अधिकार कार्यकर्ता चिड़ियाघर की जगह अभयारण्यों को ज्यादा महत्व देते हैं क्योंकि अभयारण्य में जानवरों की स्वतंत्रता का ध्यान रखा जाता है।
  6. वैसे तो चिड़ियाघर में जानवरों को सुरक्षा प्रदान की जाती है। लेकिन वन्यजीव अभयारण्यों में जानवरों की सुरक्षा के साथ ही उन्हें रहने के लिए उपयुक्त स्थिति भी प्रदान की जाती है।
  7. अक्सर देखा गया है कि चिड़ियाघर में जो जीव जंतु रहते हैं वह उपयुक्त वातावरण न मिलने की वजह से अभयारण्यों में रहने वाले जीव जंतुओं से पहले मर जाते है।
  8. वन्यजीव अभयारण्य और चिड़ियाघरों में जानवरों का चयन भी अलग-अलग आधार में किया जाता है। एक तरफ अभयारण्यों में सिर्फ उन्हीं जानवरों को रखा जाता है जिन्हें किसी तरह की मदद की जरूरत होती है जबकि चिड़ियाघर में सिर्फ उन्हीं जानवरों को रखा जाता है जो जनता का मनोरंजन कर सकें। जिससे लोग चिड़ियाघरों की ओर आकर्षित हो और इससे मुनाफा बढ़े।
  9. चिड़ियाघर में रहने वाले जानवरों को कैद करके रखा जाता है जिस वजह से वे अकेले पड़ जाते हैं, इससे उनके अंदर डर पैदा हो जाता है और वे खुद को नुकसान पहुंचाने की कोशिश करते हैं। इस स्थिति को ज़ुकोसिस कहा जाता है। वहीं वन्य जीव अभ्यारण में रहने वाले जीव जंतु मानसिक तथा शारीरिक तौर पर चिड़ियाघरों के जानवरों से ज्यादा स्वस्थ होते हैं।
  10. चिड़ियाघर में जानवरों को रखा जाना एक तरह का व्यापार है क्योंकि कई बार इन जानवरों की खरीद-फरोख्त की जाती है और इन्हें सर्कस जैसी जगहों पर बेचा जाता है। जबकि वन्यजीव अभयारण्य जानवरों की सेवा करते है। ये ऐसे जानवरों का चयन करते हैं जो बीमार और पीड़ित होते है। जिनके ठीक होने पर उन्हें वापस जंगल में छोड़ दिया जाता है।

निष्कर्ष

इस लेख में हमने चिड़ियाघर और वन्यजीव अभयारण्य के मध्य के अंतर को स्पष्ट किया। आशा है आपको इनके अंतर को समझने में मदद मिली होगी। आपके अनुसार जानवरों के लिए चिड़ियाघर और वन्यजीव अभयारण्य में से कौन-सा स्थान उपयुक्त है जरूर बताएं।

बिल और इनवॉइस के बीच अंतर

पेटेंट और ट्रेडमार्क में अंतर

तो ऊपर दिए गए लेख में आपने जाना चिड़ियाघर और वन्यजीव अभयारण्य के बीच अंतर (Difference between Zoo and Wildlife Sanctuary in Hindi), उम्मीद है आपको हमारा लेख पसंद आया होगा।

आपको हमारा लेख कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताएं, अपने सुझाव या प्रश्न भी कमेंट सेक्शन में जा कर पूछ सकते हैं। ऐसे ही लेख पढ़ने के लिए HelpHindiMe को Subscribe करना न भूले।

Author:

भारती, मैं पत्रकारिता की छात्रा हूँ, मुझे लिखना पसंद है क्योंकि शब्दों के ज़रिए मैं खुदको बयां कर सकती हूं।

Exit mobile version