HINDI KAVITA: कमाल

Mahatma Gandhi
Mahatma Gandhi

कमाल

सत्य अहिंसा के पथ चलकर
तूने ऐसा किया कमाल,

अंग्रेजों के छक्के छूटे
हो गये बेचारे बेहाल ।

सूझा नहीं रास्ता कोई
सोच सोचकर हो गये लाल,

सिर पर रखकर पैर भगे
अंग्रेजों के सारे लाल।

कर न सके गोला बारूद जो
तूने चल दिया ऐसा चाल,

साबरमती के संत तूने
कर दिया कमाल।

Read Also:
HINDI KAVITA: पिता
HINDI KAVITA: राम मंदिर
HINDI KAVITA: मुक्त ही करो
HINDI KAVITA: मेरा मन

अगर आप की कोई कृति है जो हमसे साझा करना चाहते हो तो कृपया नीचे कमेंट सेक्शन पर जा कर बताये अथवा [email protected] पर मेल करें.

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...

About Author:

सुधीर श्रीवास्तव
शिवनगर, इमिलिया गुरूदयाल
बड़गाँव, गोण्डा, उ.प्र.,271002