अपना आत्मविश्वास कैसे बढ़ाये

https://helphindime.in/self-confidence-kaise-badhaye/
अपना आत्मविश्वास कैसे बढ़ाये | What is Self Confidence | How to improve/Build it | Self Confidence building tips in Hindi

Table of Contents

15 उपायों की मदद से बढ़ाएं खुद का आत्मविश्वास | Self Confidence How to Build/Improve


आत्मविश्वास क्या होता है (What is Self Confidence)

आत्मविश्वास का सीधा-सा अर्थ होता है खुद पर विश्वास। जिसे अंग्रेजी में सेल्फ कॉन्फिडेंस (Self Confidence) के नाम से जाना जाता है। यह एक ऐसा बल होता है जो हमे जीवन में कई तरह की कठिनाइयों, परेशानियों का सामना करने का बल प्रदान करता है। एक आत्मविश्वास से भरा हुआ व्यक्ति किसी भी कार्य को करने में सक्षम होता है। जो कार्य कठिन होते हैं वह उन्हें भी करने के लिए हमेशा प्रयास करता रहता है। एक आत्मविश्वासी व्यक्ति जिंदगी के किसी भी मोड़ पर कभी हार नहीं मानता।

आत्मविश्वास का होना क्यों जरुरी है

एक सफल जीवन जीने के लिए प्रत्येक व्यक्ति में आत्मविश्वास का होना जरूरी है क्योंकि बिना आत्मविश्वास के इंसान बिना पेट्रोल की एक महंगी गाड़ी की तरह है। जिस तरह एक महंगी गाड़ी में कई तरह के फीचर्स होते हुए भी वह पेट्रोल के बिना आगे नहीं बढ़ पाती, वैसे ही वह प्रत्येक व्यक्ति जिसके अंदर गुण व प्रतिभाएं है लेकिन आत्मविश्वास की कमी है, वह भी सफल नहीं हो पाता।

ऐसा नहीं है आत्मविश्वास अचानक ही किसी व्यक्ति में आ जाता है इसके लिए धीरे-धीरे शुरुआत करनी होती है। आत्मविश्वास एक ऐसा गुण है जिसका विकास आप अपने स्तर पर आसान तरीके से कर सकते हैं। आज हम आपको ऐसे ही 15 उपाय बताएंगे जिनकी मदद से आप अपने आत्मविश्वास में बढ़ोतरी करते हुए जीवन में कामयाबी का मुकाम हासिल कर सकेंगे-

1. अपने डर को अपनी ताकत बनाएं

आपने एक कहावत सुनी होगी ‘डर के आगे जीत है’ यह वही डर है जो आपको सफलता के मुकाम पर पहुंचने से रोकता है। ऐसा नहीं है कि डर किसी में नहीं होता, सब में डर होता है। लेकिन वही अपने जीवन में सफलता का परचम लहराता है जो इस डर को मात देते हुए आगे बढ़ता है। आपको जिस भी काम से डर लगता है या आपको लगता है कि आप उस कार्य विशेष में कमजोर हैं तो उससे डरकर भागे नहीं। बल्कि उसका सामना करें और बार-बार उसी कार्य को करने के प्रयास करते रहे। जब आप उसे बार-बार दोहराएंगे तो धीरे-धीरे आपके अंदर का डर खत्म हो जाएगा।

2. नजर मिलाकर बात करें/आई कॉन्टैक्ट बनाए

कई बार देखा गया है कि कुछ लोग बात करते समय आई कॉन्टैक्ट नहीं बनाते। इसके पीछे की वजह है कि आप सामने वाले से बात करते समय हिचकिचा रहे हैं लेकिन दूसरों से आई कांटेक्ट बनाना आत्मविश्वास में वृद्धि करता है। आप जब भी किसी से बात करें उसकी नजरों से नजरें मिलाकर बात करें। इससे आपके आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होगी तथा सामने वाले इंसान से आपके रिश्ते प्रबल होंगे।

3. आत्मविश्वासी लोगों के साथ समय बिताएं

यदि आप अपने आत्मविश्वास में बढ़ोतरी करना चाहते हैं तो इसके लिए ऐसे लोगों के साथ रहे जिनमें आत्मविश्वास भरपूर हो। उनसे मुलाकात करें तथा उन्हें अपना दोस्त बनाएं। जब ऐसे लोग आपके आसपास रहेंगे तो आप उनसे मोटिवेट होंगे। आपको भी लगेगा कि मैं भी इनकी तरह आत्मविश्वास के साथ जीवन व्यतीत कर सकता हूँ। जिससे धीरे-धीरे आपके भीतर भी नए आत्मविश्वास का संचार शुरू होगा।

4. नकारात्मकता से रहें दूर

आत्मविश्वास न होने का सबसे बड़ा कारण है कि आपके जीवन में नकारात्मकता है। यदि आप किसी चीज को लेकर नकारात्मक सोच रखते हैं तो धीरे-धीरे आप उन्हीं में घिरकर रह जाते हैं। कई लोग ऐसे होते हैं जिनमें किसी कार्य को करने की क्षमता नहीं होती लेकिन वह अपने आत्मविश्वास के बलबूते उस कार्य को कर लेते हैं। वहीं कई लोग ऐसे होते हैं जिनमें उस कार्य को करने के लिए भरपूर टैलेंट होता है लेकिन आत्मविश्वास की कमी के वजह से वह पिछड़ जाते हैं क्योंकि वह व्यक्ति पहले से ही यह नकारात्मक सोच बना लेता है कि मुझसे यह काम नहीं होगा। इसीलिए अपने जीवन में हमेशा चैलेंज को स्वीकार करें जब भी आपको कोई भी काम मिले आप पहले से ही यह मन न बनाएं कि यह काम मुझसे नहीं होगा। आप यह ठान कर चले कि मैं यह काम करके ही दम लूंगा। हमेशा किसी भी चीज को देखने का नजरिया बदलें और सकारात्मक सोचे, तभी आपके आत्मविश्वास में बढ़ोतरी हो पाएगी।

5. गलतियों से घबराए नहीं

लोगों में आत्मविश्वास की कमी का सबसे बड़ा कारण है कि उनमें यह भय होता है कि वह कोई गलती न कर दें और यही डर आपको विकास करने से रोकता है। इसीलिए कभी भी इस बात से डरें नहीं कि आपसे कोई गलती या भूल हो जाएगी क्योंकि कोई व्यक्ति पूरी तरह से परफेक्ट हो ऐसा नहीं हो सकता। सभी में कुछ न कुछ खामियां होती है और हर व्यक्ति कोई न कोई गलतियां हमेशा कर जाता है इसीलिए गलती के डर को छूमंतर करें।

6. अपनों के बीच से बातचीत शुरू करें

यदि आप अपनों के बीच बातचीत करने से घबराते हैं और आप भी चाहते हैं कि आप लोगों के साथ सही से बात कर सके तो इसके लिए आप इसकी शुरुआत अपने घर से ही करें। अपने परिजनों, अपने भाई-बहनों के साथ बातचीत करने की कोशिश करें क्योंकि घर के सदस्य आपके कंफर्ट जोन में आते हैं और इन्हीं के बीच आप खुलकर अपने विचारों को रख सकते हैं। जब आप ऐसा करने में सफल हो जाए तो धीरे-धीरे दूसरे लोगों के साथ भी बातचीत शुरू करें।

7. मजाक बनने का डर त्याग दें

कई लोगों को यह डर होता है कि यदि वे दूसरों के सामने अपनी राय रखेंगे तो उनका मजाक बन सकता है। इसी डर की वजह से वह अपने कदम पीछे खींच लेते हैं और धीरे-धीरे अंतर्मुखी बन जाते हैं। इसीलिए अपना मजाक बनने के डर को त्याग दें और अपने काम पर फोकस करें. अपनी बात दृढ़ता से रखे यदि कोई कमी बताता भी है तो उसे दूर करने की कोशिश करें और आलोचना से डरे नहीं।

8. अपने आप से प्यार करें

यदि आप चाहते हैं कि दूसरे लोग भी आप से प्यार करें, आपको अच्छा समझे तो इसके लिए जरूरी है कि आप पहले खुद से प्यार करना सीखें। जब आप खुद को ही कमतर समझते हैं, खुद के लिए घृणात्मक रवैया अपनाते हैं तो आप दूसरों से कैसे उम्मीद कर सकते हैं कि वह आपके लिए अच्छा सोचें। इसीलिए जरूरी है कि खुद को प्यार दें, अपने दोषों-कमियों सभी को स्वीकार करें और उन्हें दूर करने का प्रयास करें।

9. नए लोगों से मिलें, बातचीत करें

खुद में आत्मविश्वास बढ़ाने का यह सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपने कंफर्ट जोन से बाहर आकर नए-नए लोगों से मिले तथा उनसे बातचीत करें। जब आप लोगों से बात करना शुरू कर देते हैं तो धीरे-धीरे आपके आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होती है, और जीवन में नए विचारों का समावेश होता है जो व्यक्ति के लिए बहुत ही आवश्यक है।

10. अपनी कमियों को दूर करने का प्रयास करें

यदि आप इस बात से वाकिफ है कि आपके अंदर किस तरह की कमियां हैं तथा इन कमियों की वजह से ही आपके आत्मविश्वास में बढ़ोतरी नहीं हो पा रही तो इन कमियों को दूर करने का प्रयास करें।

11. लोगों के सामने अपनी राय रखें

कभी भी अपने विचारों को लोगों के सामने रखने से हिचकिचाये नहीं। यदि आपको लगता है कि आपके विचार सही हैं तो उन्हें झटपट बोल दे, यह न सोचें कि मेरी बात पर लोग कैसे रिएक्ट करेंगे। सिर्फ अपने मन में सोचते रहने से आप कभी भी अपने विचारों को लोगों के सामने नहीं रख पाएंगे। जब आप एक बार अपने विचारों को लोगों के सामने रखना शुरु कर देते हैं तो धीरे-धीरे आपका दिल हल्का होने लग जाता है और आपमें आत्मविश्वास की बढ़ोतरी होती है।

12. कभी भी हार न माने

जीवन के किसी भी मोड़ पर यदि आप असफल हो भी जाते हैं तब भी कभी हार नहीं मानना चाहिए क्योंकि जीवन में सफलता के मुकाम में वही व्यक्ति पहुंचता है जो बार-बार प्रयास करता रहता है, इसलिए किसी भी काम में असफल होने का डर त्यागकर उस काम में आगे बढ़ने का सोचें और बार-बार प्रयास करें।

13. अपनी खूबियों को पहचाने

खूबियां प्रत्येक व्यक्ति के अंदर होती है बस जरूरत होती है उन्हें पहचानने की। जो व्यक्ति अपनी खूबियों तथा अपने हुनर को पहचान लेता है वही अपने जीवन में आगे बढ़ता है इसीलिए आप खुद के अंदर छिपी उन खूबियों को पहचानने का प्रयास करें उस काम को करें जो आपको बहुत अच्छा लगता है तथा जिसे आप अच्छी तरह से कर सकते हैं। जब आप अपनी खूबियों से रूबरू होते हैं तब आपको गर्व महसूस होता है।

14. खुद की तुलना दूसरों से न करें

धरती पर रहने वाला प्रत्येक व्यक्ति एक-दूसरे से अलग होता है। किसी के पास कुछ गुण होते हैं तो किसी के पास अन्य कुछ गुण। कोई भी दो व्यक्ति एक समान नहीं हो सकते, जब आप दूसरों से खुद की तुलना करने लग जाते हैं तो धीरे-धीरे आपका कॉन्फिडेंस लेवल कम होता जाता है। यदि आप आत्मविश्वास को बढ़ाना चाहते हैं तो इस तरह के विचारों को त्याग दें और खुद से खुश रहने का प्रयास करें।

15. मेहनत करें

जीवन में कुछ भी बैठे-बिठाए नहीं मिल जाता। इसके लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। यही मेहनत आपको खुद पर करनी है, अपने जीवन में खुद को बेहतर बनाने के लिए हमेशा मेहनत करें। अपने ज्ञान में बढ़ोतरी करें, आपके पास जितना ज्ञान का भंडार होगा आप उतने ही ज्यादा आत्मविश्वासी बनेंगे।

अंत में सबसे महत्वपूर्ण बात प्रत्येक व्यक्ति में आत्मविश्वास होता है लेकिन जरूरत होती है उसे पहचानने की तथा उसका विकास करने की। जब आप इसमें सफल हो जाते हैं तो आप भी सामान्य जीवन जीते हुए कुछ अदबुद्ध कर जाते है जो दूसरों के लिए प्रेरणा बन जाता है, इसलिए कभी भी अपने आपको जीवन में कमतर नहीं समझे और हमेशा आगे बढ़ते रहें।

तो ऊपर दिए गए लेख में आपने जाना कि आत्म विश्वास क्या होता है और अपना आत्मविश्वास कैसे बढ़ाये/Self Confidence kaise badhaye/Self Confidence, How to improve it, उम्मीद है आपको हमारा लेख पसंद आया होगा।

आपको हमारा लेख कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताएं, अपने सुझाव या प्रश्न भी कमेंट सेक्शन में जा कर पूछ सकते हैं। ऐसे ही लेख पढ़ने के लिए helphindime को subscribe करना न भूले।

Author:

भारती, मैं पत्रकारिता की छात्रा हूँ, मुझे लिखना पसंद है क्योंकि शब्दों के ज़रिए मैं खुदको बयां कर सकती हूं।