HINDI KAVITA: हमें गर्व है

Last updated on: November 21st, 2020

हमें गर्व है

हमें गर्व है बुजुर्गों के किए हुए उपकारों पर,
गर्व है हमें माँ-बाप ने दिए सभ्य संस्कारों पर।

हमें गर्व है अपने परम् पूजनीय हिंदुस्तान पर,
गर्व है हमें राष्ट्र की आन-बान-शान-ईमान पर।

हमें गर्व है भारत माता के वीर जवानों पर,
गर्व है हमें अन्नदेवता भूमी पुत्र किसानों पर।

हमें गर्व है क्रन्तिकारी कवियों के विचारों पर,
गर्व है हमें कलमरूपी अमिट हथियारों पर।

हमें गर्व है अपनी सामाजिक संस्कृति पर,
गर्व है हमें सबसे निराली भारतीय प्रकृति पर।

हमें गर्व है हमारी अनेकता में एकता की शक्ति पर,
गर्व है हमें यहां भगवान के प्रति प्रेम की भक्ति पर।

हमें गर्व है अशफ़ाक़,आज़ाद और सरदार पर,
गर्व है हमें उस सच्चे बादशाह के पहरेदार पर।

हमें गर्व है लाला,लोहपुरुष,कलाम और अटल पर,
गर्व है जवानों की बंदूकों और किसानों के हल पर।

हमें गर्व है सच्ची श्रद्धा,आस्था और धर्म पर,
गर्व है हमें साफ-सुथरे,पुण्य पावन कर्म पर।

हमें गर्व है भारतीय स्त्रियों के पवित्र श्रृंगारों पर,
गर्व है हमें मुसीबतों में सँग रहे जिगरी यारों पर।

हमें गर्व है ख़ुद के वजूद और काबिलियत पर,
गर्व है हमें देश भक्ति की सच्ची,नेक नियत पर।

सत्यमेव जयते

सत्य सुन्दर है,सौम्य सुदर्शन है
सत्य खुद्दार,सत्य की जीत है,
सरसता,कोमलता सत्य वाणी में
सौहार्द,सत्य के प्रेम की प्रीत है।

सत्य ईमान है,इज्जतदार है
हर इक प्राणी का श्रृंगार है।
सत्य में लाज़ है, लिहाज़ है
ज़िंदगी जीने का आधार है।

सत्य में संस्कारों की संहिता
भारतीय समाज की संस्कृति है,
चाँद-सूरज, नभ-धरा सत्य
सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड,सत्य प्रकृति है।

सत्य अहिंसा, पुण्य कर्म है
अखंड-अमिट,सत्य अटल है,
राजा हरिश्चन्द्र जी है सत्य
युगांतर है सत्य,आज-कल है।

सत्य पथ पर चलना सदैव
सत्य हमारे पूर्वजों की रीत है,
वक़्त लगता है सत्यता को
हाँ धर्म और सत्य की जीत है।

Read Also:
HINDI KAVITA: पिता
HINDI KAVITA: पल
HINDI KAVITA: मुक्त ही करो
HINDI KAVITA: कमाल

अगर आप की कोई कृति है जो हमसे साझा करना चाहते हो तो कृपया नीचे कमेंट सेक्शन पर जा कर बताये अथवा [email protected] पर मेल करें.

यह कविता आपको कैसी लगी ? नीचे 👇 रेटिंग देकर हमें बताइये।

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 4.50 out of 5)
Loading...

कृपया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और whatsApp पर शेयर करना न भूले 🙏 शेयर बटन नीचे दिए गए हैं । इस कविता से सम्बंधित अपने सवाल और सुझाव आप नीचे कमेंट में लिख कर हमे बता सकते हैं।

Author:

मेरा नाम “विकाश बैनीवाल” है,
मै राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के गाँव का निवासी हूँ 🙏🙏