ग्रह यूरेनस के बारे में रोचक तथ्य

https://helphindime.in/interesting-facts-about-uranus-planet-in-hindi/
ग्रह यूरेनस(अरुण ग्रह) के बारे में रोचक तथ्य | Interesting | Amazing | Unknown | Fascinating facts about the Planet Uranus in Hindi

यूरेनस ग्रह के बारे में रोचक तथ्य | Fascinating facts about the Planet Uranus in Hindi

यूरेनस सौरमंडल का सातवां और दूसरा आखिरी ग्रह है। इसका नाम ग्रीक देवता के नाम पर रखा गया है और यह सौर मंडल का तीसरा सबसे बड़ा ग्रह है। Voyager-2 यूरेनस पर जाने वाला एकमात्र अंतरिक्ष यान है। पृथ्वी से इसकी अधिक दूरी के कारण यह अभी तक पूरी तरह से खोजा नहीं गया है।

यूरेनस ग्रह के बारे में कुछ रोचक और मजेदार तथ्य इस प्रकार हैं:

01-10 Interesting Facts about the Planet Uranus in Hindi

1. ग्रह यूरेनस के चारों ओर तेरह छल्ले हैं। यूरेनस के ये छल्ले बर्फ और छोटी चट्टानों से बने हैं।
2. यूरेनस ग्रह के चारों ओर 27 चंद्रमा इसकी परिक्रमा करते है।
3. टाइटेनिया (Titania) चंद्रमा यूरेनस का सबसे बड़ा चंद्रमा है, टाइटेनिया का व्यास 1578 km है।
4. यूरेनस के सभी चंद्रमा एक-दूसरे के बहुत निकट हैं, शोधकर्ताओं का कहना है कि यह जल्द ही एक दूसरे से टकरा सकते है।
5. टाइटेनिया चंद्रमा, ग्रह यूरेनस का चंद्रमा, सौरमंडल का आठवां सबसे बड़ा उपग्रह है, इसका व्यास 981 मील (1578 किमी) है।
6. अंतरिक्ष यान, वायेजर -2 (Voyager-2), 1986 में यूरेनस ग्रह के चित्र लेने वाला पहला यान था।
7. ग्रह यूरेनस सौर मंडल का तीसरा सबसे बड़ा ग्रह है। पहले और दूसरे स्थान पर बृहस्पति ग्रह और शनि ग्रह है। हालांकि, ग्रह यूरेनस को नंगी आंखों के नहीं देखा जा सकता है।
8. ग्रह यूरेनस सूर्य से सातवां ग्रह है। यह 20 खगोलीय इकाई की दूरी पर है, यूरेनस पृथ्वी से 63 गुणा बड़ा ग्रह है।
9. यूरेनस का तापमान शून्य से 370 डिग्री फ़ारेनहाइट या 220 डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है। यह सूर्य से अपनी दूरी और ग्रह की प्रकृति के कारण भी ऐसा होता है।
10. सूर्य से इसकी दूरी के कारण, ग्रह यूरेनस सौर मंडल का सबसे ठंडा ग्रह है। हालांकि, यह सौर मंडल का सबसे दूर का ग्रह नहीं है।

11-20 Amazing Facts about the Planet Uranus in Hindi

11. ग्रह यूरेनस की सतह बर्फ और पानी के महासागर से, और अमोनिया और मीथेन से बनी है।
12. ग्रह यूरेनस 98 डिग्री के कोण पर झुका हुआ है। यह माना जाता है कि यह झुकाव किसी अन्य खगोलीय पिंड में टकराव के कारण हो गया होगा।
13. इसके झुकाव के कारण, यह माना जाता है कि ग्रह यूरेनस उत्तर से दक्षिण की ओर घूमता है।
14. एस्ट्रोनॉमर विलियम हर्शल (William Herschel) द्वारा 13 मार्च 1781 को ग्रह यूरेनस की खोज की गई थी।
15. ग्रह यूरेनस का नाम स्वर्ग के ग्रीक देवता ‘आउरोनस’ (Ouranous) के नाम पर रखा गया है। यूरेनस आउरोनस का लैटिन शब्द है।
16. यूरेनस का नाम एस्ट्रोनॉमर जोहान एलर्ट बोडे (Johann Elbert Bode) ने दिया था, उसके अनुसार ग्रह बृहस्पति देवों के पिता थे और ग्रह शनि बृहस्पति के पिता थे तो ग्रह यूरेनस शनि के पिता होने चाहिए।
17. सूर्य से यूरेनस की दूरी 2.9 बिलियन किमी या 1.8 बिलियन मील है।
18. ग्रह यूरेनस वह ग्रह है जिसे आखिरी में खोजा गया था। हालाँकि, यह अक्सर देखा गया था लेकिन लोगों को लगा कि यह सिर्फ एक और सितारा या एक धूमकेतु है। बाद में 18 वीं शताब्दी में, यह पता चला कि यह ग्रह के सभी गुणों को पूरा करता है।
19. ग्रह यूरेनस का सबसे बड़ा चंद्रमा, एक शेक्सपियर के नाटक की परियों की रानी के नाम पर रखा गया है। शेक्सपियर के नाटक का नाम ‘ए मिडसमर नाइट्स ड्रीम’ (A Midsummer Night’s Dream) है।
20. ग्रह यूरेनस पर एक दिन 17 घंटे और 14 मिनट के बराबर होता है। यूरेनस ग्रह के दिन अन्य सभी ग्रहों की तुलना में छोटे होते हैं।

21-30 यूरेनस ग्रह(अरुण ग्रह) के बारे में रोचक तथ्य

21. ग्रह यूरेनस के प्रत्येक उत्तर और दक्षिण ध्रुव, एक के बाद एक, 42 साल तक पूर्ण अंधकार का अनुभव करते हैं। 42 वर्षों के लिए पूर्ण अंधेरे का कारण इसका 98 डिग्री झुकाव है।
22. ग्रह यूरेनस 560 मील या 900 किमी प्रति घंटे की गति तक पहुंचने वाली अत्यधिक तेज हवाओं का अनुभव करता है।
23. ग्रह यूरेनस में वायुमंडल है जो अधिकांश आणविक हाइड्रोजन और परमाणु हीलियम से बना है, इस ग्रह पर थोड़ी मात्रा में मीथेन है।
24. ग्रह यूरेनस अपने वातावरण और मौसम के कारण मानव जीवन का समर्थन नहीं करता है।
25. ग्रह यूरेनस पर प्रत्येक मौसम 21 साल तक रहता है। ग्रह का उत्तरी ध्रुव सर्दियों में 21 साल की रात, गर्मियों में 21साल के दिन और वसंत और शरद ऋतु में 42 साल का दिन और रात का अनुभव करता है।
26. ग्रह यूरेनस पर एक वर्ष ग्रह पृथ्वी पर 84 साल के बराबर होता है।
27. ग्रह यूरेनस के हॉटेस्ट जोन इसके ध्रुव हैं क्योंकि वे सूर्य के सामने रहते हैं। इसके 98 डिग्री झुकाव के कारण, यूरेनस के ध्रुव सूर्य के सामने रहते हैं।
28. ग्रह यूरेनस का रंग हल्का नीला है। यूरेनस का रंग अपने वातावरण में मीथेन के कारण है।
29. यूरेनस का मूल (Core) लोहा और मैग्नीशियम सिलिकेट से बना है।
30. यूरेनस ग्रह पर जबरदस्त दबाव के कारण, यह माना जाता है कि इसमें अरबों बड़े हीरे हो सकते हैं।

31-38 Unknown Facts about the Planet Uranus in Hindi

31. सूर्य से यूरेनस की दूरी शनि से दोगुनी है। यह इतनी दूर है कि सूरज यूरेनस से एक सितारे की तरह दिखता है।
32. यूरेनस के सारे चंद्रमाओं को एक बार में नहीं खोजा गया था बल्कि उन्हें एक-एक करके खोजा गया। विलियम हर्शेल (William Herschel) ने ग्रह यूरेनस की खोज के साथ टाइटेनिया (Titania) चंद्रमा और ओबेरॉन (Oberon) चंद्रमा को खोजा था। एरियल (Ariel) चाँद और उम्ब्रील (Umbriel) चाँद 1851 में विलियम लासेल (William Lasell) द्वारा पाए गए थे। मिरांडा (Miranda) चंद्रमा को गेरार्ड कुइपर (Gerard Kuiper) ने वर्ष 1948 में पाया था। अन्य दस चंद्रमाओं की खोज 1986 में वायेजर -2 द्वारा की गई थी। 1990 में अगले छह चंद्रमाओं की खोज की गई थी और आखिरी छह चंद्रमा साल 2000 में खोजे गए थे।
33. 2000 में, चंद्रमा ‘मार्गरेट’ अंतिम यूरेनस चंद्रमा की खोज की गई थी, और इसकी विशेषताओं को 2003 में प्रकाशित किया गया था।
34. विलियम शेक्सपियर और अलेक्जेंडर पोप के नाटक के पात्रों के नाम पर यूरेनस के सभी 27 चंद्रमाओं का नाम रखा गया है।
35. जेम्स इलियट (James Elliot), जेसिका मिंक (Jessica Mink) और एडवर्ड डनहम (Edward Dunham) ने 1977 में यूरेनस के छल्ले की आधिकारिक खोज की थी।
36. पृथ्वी से यूरेनस की दूरी 160 प्रकाश मिनट है। पृथ्वी अब तक यूरेनस से सबसे नजदीक 2.57 बिलियन किमी रहा है।
37. ग्रह यूरेनस अभी तक पूरी तरह से खोजा नहीं गया है अब तक, यह केवल 1986 में नासा द्वारा भेजे गए अंतरिक्ष यान वायेजर-2 और दूरबीन के माध्यम से खोजा गया है।
38. यूरेनस को ‘आइस जाइंट’ (Ice Giant) भी कहा जाता है। यह इस ग्रह पर हाइड्रोजन और हीलियम की उच्च सांद्रता के कारण कहा जाता है।



Loudspeakerपृथ्वी के बारे में रोचक तथ्य

Loudspeakerचाँद के बारे में रोचक तथ्य

तो ऊपर दिए गए लेख में आपने पढ़ा ग्रह यूरेनस(अरुण ग्रह) के बारे में रोचक तथ्य | Interesting | Amazing | Unknown | Fascinating facts about the Planet Uranus in Hindi, उम्मीद है आपको हमारा लेख पसंद आया होगा।

आपको हमारा लेख कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताएं, अपने सुझाव या प्रश्न भी कमेंट सेक्शन में जा कर पूछ सकते हैं। ऐसे ही लेख पढ़ने के लिए HelpHindiMe को Subscribe करना न भूले।

Author:

आयशा इरशाद, प्रयागराज